Tag «two line hindi shayri»

two lines hindi shayari

Two Line Shayri खत में मेरे ही खत के टुकडे़ थे, लाजवाब आया था जवाब उसका.. जो अख़बार बिका करते थे छप के, इन दिनों सुना है बिक के छपा करते हैं.. सारी सभ्यता नाली मे आ गई, इतने गिरे इन्सान की बहन भी गाली मे आ गई.. नींद आये जहाँ चैन से और दिल …